भारत ने आखिरी गेंद पर पाकिस्तान से मैच जीता, जिम्बाम्बे ने भी आखिरी गेंद पर पाकिस्तान से मैच जीता। विश्व कप में लगातार दो मैच हारने से पाकिस्तान के सेमीफानल में पहुचने के रास्ते लगभग बंद हो चुके हैं लेकिन फिर भी उसे उम्मीद है कि सेमीफाइन में पहुंचा जा सकता है।

पाकिस्तान फैन्स भारत से मिली हार का सदमा भुला भी नहीं पाये थे कि जिम्बाम्बे से मिली हार ने फैन्स को कोमा में पहुंचा दिया है।

माना कि क्रिकेट में उलट-फेर होते रहते हैं पर यह मैच का परिणाम पाकिस्तान की जीत में होना था जिसे पाकिस्तान के बल्लेबाजों ने पहाड़ जैसा ऊंचा बना लिया और एक के बाद एक विकेट गिराते चले गये।

यदि आप क्रिकेट को नहीं भी समझते हैं तो भी यह जानते होगे कि दूसरी टीमें भी यहां अपने प्रतिद्वन्दि को हराने के लिये ही आयी हुई हैं। पाकिस्तान को अपने अगले मैच नीदरलैंड, बांग्लादेश और साउथ अफ्रीका के साथ खेलने हैं।

जिम्बाम्बे से मिली हार के बाद नीदरलैंड जैसी कमजोर टीम में भी आत्मविश्वास आ गया होगा कि वे भी पाकिस्तान को हरा सकते हैं। बाकि की दो टीमे बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका पाकिस्तान के लिये मुसीबत खड़ी करने में सक्षम हैं। फिर भी पाकिस्तान को उम्मीद है कि वह सेमीफाइनल में पहुंच सकते हैं।

क्या है पाकिस्तान के सेमीफाइनल में पहुंचने का गणित

दो मैचों में मिली हार के बाद भी अब भी पाकिस्तान के लिये सेमीफाइनल में पहुंचने के दरवाजे परी तरह से बंद नहीं हुये हैं। पाकिस्तान के पास अभी भी मौका है लेकिन इसी के साथ उसे दूसरी टीमों के प्रदर्शन पर भी निर्भर रहना होगा।

अपने ग्रुप में भारतीय टीम 4 अंको के साथ टॉप पर है , दक्षिण अफ्रीका 3 अंको के साथ दूसरे पायदान पर है। पाकिस्तान को अपने बचे तीन मैच नीदरलैंड, बाग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका के साथ खेलने हैं। और ये तीनों ही मैच में पाकिस्तान को जीतना होगा। इन मैचों में मिली एक हार से ही पाकिस्तान का यह सफर खत्म हो जायेगा। इसलिये सबसे पहले तो ये तीन मैच को जीतना पाकिस्तान के लिये पहला लक्ष्य होगा।

अब बात आती है दूसरी टीमों पर निर्भरता की। हम यह मानकर चल रहे हैं कि पाकिस्तान अपने तीनों मैंच जीत गया है और अब उसके 6 अंक हो गये हैं। अब दक्षिण अफ्रीका को अपने बचे दो मैच भारत और नीदरलैंड के साथ खेलने हैं।

मान लो कि दक्षिण अफ्रीका नीदरलैंड से एक मैच जीत जाता है और भारत से एक मैच हार जाता है तब उसके अंक 5 हो जायेगें। और अब भारत की बात करते हैं भारत दक्षिण अफ्रीका से जीत गया है और 2 अंक हासिल कर चुका है और अपने बाकि बचे दो मैच बांग्लादेश और जिम्बाम्बे को भी हरा देता है, तो उसके कुल अंक 10 हो जाये और सेमीफाइनल के लिये पहुंच चुका होगा।

तो भी कुल मिलाकर यही कहा जा सकता है कि पाकिस्तान का सेमीफाइनल में पहुंचना दूसरी टीमों के खराब खेलने की वजह से ही संभव हो जायेगा। या फिर दक्षिण अफ्रीका को अपने दो मैच हारने होगे तब जाकर पाकिस्तान के लिये कोई मौका बन सकता है। वैसे भी पाकिस्तान क्रिकेट टीम किस्मत की धनी है।

By Pradeep

One thought on “पाकिस्तान को अभी भी सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीद।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *